दुनिया का सबसे बड़ा धर्म कौन-सा हैं?

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका अपनी वेबसाइट Filmibeat.Org पर। आज हम बात करेगें की दुनिया का Sabse Bada Dharm Kaun Sa Hain और कौन-सा धर्म इस दुनिया में सबसे पहले आया था ? दोस्तों हमारी इस छोटी सी दुनिया में बहुत सरे धर्म हैं, जिनमे से कुछ धर्म ऐसे भी है जिनके बारे में आपने कभी सुना भी नहीं होगा और न ही देखा होगा। इस दुनिया में आप कही भी जायेगे हो आपको कहीं हिन्दू धर्म के लोग, कहीं मुस्लिम धर्म, कहीं ईसाई धर्म, तो कही कोई-सा धर्म मान्य हैं। भारत भी एक धर्म निरपेक्ष देश हैं जिसमे आपको किसी-न-किसी कोने में, किसी धर्म के लोगो की जनसंख्या अधिक देखने को मिलेगी। तो चलिए शुरू करते है आज के Topic को।

दुनिया में सबसे बड़ा धर्म कौन-सा हैं?

नोट – सभी धर्मो में कुछ-न-कुछ समानताएँ और कुछ-न-कुछ असमानताएँ होती ही हैं और Sabse Bada Dharm Kaun Sa Hain. यह सभी जानना चाहते हैं। यदि आप किसी से ये Question की सबसे बड़ा धर्म कौन-सा हैं तो वह व्यक्ति अपने धर्म को सबसे बड़ा बातयेगा।

1. ईसाई धर्म 

इस पूरी दुनिया में अब तक 7.2 अरब जनसख्या निवास करती हैं। वैसे तो कोई भी धर्म छोटा या बड़ा नहीं होता हैं, लेकिन अगर आंकड़े यानि जनसख्यां के आधार पर देखा जाये तो ईसाई धर्म सबसे बड़ा धर्म हैं। ईसाई धर्म की जनसख्यां 2020 तक के हिसाब से 7.2 अरब में से 2.4 अरब हैं। जिसमे सबसे अधिक जनसख्या Catholic Church की हैं जो अजेंटीना में हैं। जोकि दुनिया का सबसे बड़ा चर्च हैं। यहाँ की जनसख्यां लगभग 1.09 अरब हैं।

कुछ महत्वपूर्ण चर्च —

1. अर्जेंटीना रोमन कैथोलिक चर्च
2. अर्मेनिया अर्मेनियाई अपोस्टोलिक चर्च
3. टोगा टोगा का फ्री वेम्लेयन चर्च
4. इंग्लॅण्ड चर्च ऑफ़ इंग्लॅण्ड
5. ग्रीस पूर्वी रूढ़िवादी चर्च
6. जार्जिया पूर्वी रूढ़िवादी चर्च
7. किंगडम ऑफ़ डेनमार्क डेनमार्क नेशनल चर्च
8. आइसलैंड चर्च ऑफ़ आइसलैंड
9. लिंकटेस्टिन कैथोलिक चर्च
10. मोनाको, वाल्टा, जिम्बाविया, वेटिकन सिटी कैथोलिक चर्च

2. मुस्लिम धर्म या इस्लाम धर्म 

हमारी इस दुनिया में ईसाई दधर्म के बाद सबसे ज्यादा जनसँख्या मुस्लिमो की हैं। इसलिए आकड़ो के अनुसार मुस्लिम धर्म दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा धर्म है। इस्लाम धर्म के अंदर लगभग दुनिय की 7.4 जनसंख्या में से 1.8 अरब जनसंख्या निवास करती हैं। जोकि विश्व की 23 % जनसँख्या हैं। मुस्लिम लोग अदिकांश दो भागो शिया (20-30 )% और सुन्नी (80-70 )% में विभाजित हैं। इस्लाम धर्म की स्थापना पैगंबर मोहम्मद ने 610 ई० में की थी। इन्होने की इस्लाम धर्म को इनकी पवित्र कुरान  से अवगत करवाया था।

कुछ महत्वपूर्ण देश यहाँ मुस्लिम निवास करते है। 

  • मध्य पूर्वी, यूरोप
  • उत्तरी अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका
  • अफ्रीका का टाउन, सुदूर
  • सहारा. इण्डोनेऐसा
  • एशिया, तुर्की
  • मध्य एशिया, ईरान
  • चाइना, मिस्त्र
  • बाल्कन, नजिरिया
  • भारत, बाग्लादेश
  • रूस, अफगानिस्तान
  • पस्चिमी यूरोप
  • पाकिस्तान

नोट – दुनिया में ऐसा ज़रूरी नहीं है की हर व्यक्ति किसी-न-किसी धर्म का हो। इस दुनिया में 1.1 अरब जनसख्या ऐसी भी है जो किसी भी धर्म से जुड़े हुए नहीं हैं।

3. हिन्दू धर्म या सनातम धर्म 

भारत देश के अलावा हिन्दू धर्म के लोग कई देशो में निवास करते हैं। धर्म आकड़ो के हिसाब से हिन्दू तीसरा सबसे बड़ा धर्म हैं। 7.2 अरब जनसंख्या में से 1 अरब जनसख्या हिन्दू धर्म में निवास करती हैं। हिन्दू धर्म की सबसे पवित्र किताब श्रीमतभगवतगीता हैं।

हिन्दू धर्म के कुछ प्रमुख देश —

1. India 1,040,000,000+
2. Nepal 21,551,492-23,410,450+
3. Bangladesh 12,680,000-14,487,500+
4. Indonesia 10,000,000+
5. Pakistan 3,626,000+
6. Shri Lanka 2,554,000+
7. Malaysia 1,949,850+
8. Singapore 2,80,000+
9. United States 8,32,000+
10. Myanmar 89,3000+

4. चीनी बौद्ध धर्म 

यह धर्म पूरी दुनिया की जनसख्या का 5.5 % हैं। चीनी बौद्ध धर्म, धर्म आकड़ो के हिसाब से चौथे नंबर पर हैं। चाइना या चीनी लोग सबसे ज्यादा बौद्ध धर्म का पालन करते हैं। दुनिया की 65% चीनी जनसख्या चाइना में निवास करती हैं।

5. सिख धर्म 

यह धर्म पूरी दुनिया की जनसख्या का (5-2 )% हैं। इस दधर्म के लोग सर पर जरूर लगते हैं जोकि इनकी शान होती है। सिख धर्म को जनसख्या के हिसाब से पांचवे नंबर पर रखा गया है।

सिख धर्म के लोग अधिक लोग Canada कंट्री जाना ज्यादा पसंद करते हौं।

6. जैन धर्म 

जैन को झंन धर्म भी कहा जाता हैं जिसक शाब्दिक अर्थ हैं ध्यान। यह धर्म जापान के समुराई वर्ग का धर्म हैं। समुराई एक योद्धा वर्ग होता हैं जिसे दुनिया की सबसे बहादुर कॉम माना जाता हैं। जैन धर्म की सस्थापना ऋषभ देव ने की थी जोकि भारत के चक्रवर्ती सम्राट भरत के पिता थे। जैन धर्मं का विकास चीन में लगभग 500 ई० में हुआ था। जैन धर्म पर बौद्ध धर्म का बहुत असर था फिर भी इनकी कुछ मान्यताये बिलकुल अलग थी। 

नोट – दोस्तों ये सभी धर्म अपनी-अपनी मान्यताये पर अधारित हैं लेकिन इन सबसे भी एक बड़ा धर्म होता है और वह है इन्सानियत जोकि ये नहीं देखती की आप कौनसे धर्म से हैं। आपके मन में इंसानियत का होना अति आवश्यक हैं।

दुनिया का सबसे अच्छा धर्म कौन-सा हैं?

दोस्तों दुनिया में इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता की सबसे अच्छा धर्म कौन-सा है। फर्क इस बात से पड़ता की आपके अंदर एक दूसरे के प्रति सोच कैसी हैं ? हमे लोगो के बुरे कामो को न देख कर अच्छे कामो पर ध्यान देना चाहिए। तो इसलिए ये कभी नहीं कहा जा सकता की कौन सा धर्म ज्यादा अच्छा हैं।

दुनिया का सबसे पुराना धर्म कौन-सा हैं?

यदि हम सबसे पुराने धर्म की बात करे तो सबसे पुराना धर्म हिन्दू धर्म हैं जिससे प्राचीन काल में सनातन धर्म के नाम से जाना जाता था, लेकिन कुछ लोग इस नाम को भूलते जा रहे हैं। हिन्दू धर्म सबसे पुराना इसलिए है क्यॉकि प्राचीन काल में मुस्लिमो और ईसाइयों के आने से पहले इसकी मान्यता बहुत पुरानी हैं।

दुनिया का सबसे पवित्र धर्म कौन-सा हैं?

हम यदि सबसे पुराने धर्म की बात करे तो हिन्दू धर्म सबसे पुराना धर्म हैं। हिन्दू धर्म कम-से-कम 15000 वर्ष से भी अधिक पुराना धर्म हैं।

दुनिया में का सबसे खतरनाक धर्म कौन-सा हैं?

विश्व का कोई भी धर्म खतरनाक नहीं होता हैं। यह बात उस धर्म में रहने वाले लोगो पर निर्भर करती हैं की वो अपने धर्म में किस तरह रहते हैं और दूसरे धर्म के लोगो के साथ कैसा व्यवहार करते हैं।

दुनिया का सबसे गन्दा धर्म कौन-सा हैं?

देखा जाये तो यह बात ही बिलकुल गलत हैं कोई भी धर्म गन्दा नहीं होता हैं। यह बात धर्म के ऊपर नहीं बल्कि अंधविश्वास पर निर्भर करती हैं की लोग किसी धर्म के चक्कर में कई गलत काम क्र देते हैं जोकि किसी भी धर्म के पक्ष में नहीं होता हैं। ऐसे लोग अपने धर्म के ही नहीं अपितु पूरी दुनिया के लिए बहुत हानिकारक होते हैं जिनसे पूरी दुनिया को सर झुकना पड़ता हैं।

Conclusion 

हमारा यह Sabse Bada Dharm Kaun Sa Hain आर्टिकल आप लोगो को सब कुछ आसानी से समझ आया होगा। आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो हुम्हे Comment करके जरूर बताये और अपने दोस्तों, भाइयो और सभी के साथ शेयर करे।

Thank You For Coming…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *